रातापानी वन्यप्राणी अभ्यारण्य

संरक्षित क्षेत्र का नाम : रातापानी वन्यप्राणी अभ्यारण्य
जिले का नाम : रायसेन
वनमंडल का नाम : औबेदुल्लागंज
जी.पी.एस. : अक्षांश : 22 डिग्री 48 मिनिट 57 सेकिंड से 23 डिग्री 06 मिनिट 25 सेकिंड तक
देशांतर : 77 डिग्री 20 मिनिट 15 सेकिंड से 78 डिग्री 04 मिनिट 04 सेकिंड
क्षेत्रफल : 907.71 वर्ग कि.मी.
जैव विविधता संरक्षण का इतिहास :

 

लेंडस्केप का विवरण :    
वन का प्रकार :

चैम्पियन एवं सेठ के अनुसार इस क्षेत्र के वन ट्रापिकल हाई डेसीडॅयूअस के अंतर्गत निम्नानुसार श्रेणियों में आते हैं :-

  1. 5A/CIV- सर्दन ट्रापिकल ड्राई डेसीड्यूअस ड्राई टी फारेस्ट
  2. 5A/CIII- सर्दन ट्रापिकल ड्राई डेसीड्यूअस मिक्सड फारेस्ट
  3. 5A/DSI- सर्दन ट्रापिकल ड्राई डेसीड्यूअस स्क्रब (Degradation Stage)
  4. 5/DS4- सर्दन ट्रापिकल ड्राई डेसीड्यूअस फारेस्ट - ड्राई ग्रास लेंड (Degradation Stage)
 
वनस्पति एवं वन्यप्राणी :

रातापानी वन्यप्राणी अभ्यारण्य का वन क्षेत्र बायोज्योग्राफ़िक वर्गीकरण की दृष्टि से डेकन पेनंसुला जोन में सेंट्रल हाइलेण्ड और विंध्या बघेलखण्ड बायोटिक प्रोविंस की शुष्क पर्णपाती वनक्षेत्र श्रेणी में वर्गीकृत हैं।

अभ्यारण्य क्षेत्र में मेमल्स की 30 प्रजातियां, पक्षियों की लगभग 112 प्रजातियां, मछलियों की 15 प्रजातियां तथा सरीसृप की लगभग 8 प्रजातियां पाई जाती हैं। 

 
रहवास का विवरण : गुफायें, खडी चट्टाने, नमी वाले क्षेत्र, बोल्डर्स वाले क्षेत्र, नदी, तालाब और बांध  
पर्यटन जानकारी :
  • पर्यटन प्रवेश द्वार का विवरण : मथार, नाहरकोला (गौ-सदन), बर्रूसोत गेट, बिनेका, रमपुरा, घोडापछाड, तुमडाखेडा, करमई, झिरी, भीमबैठिका एवं बोरखाडी
  • पर्यटन जोन : क्षेत्र की सुंदरता और भोपाल से सामीप्य के कारण इस क्षेत्र में पर्यटन धीरे-धीरे विकसित हो रहा है। बरखेडा क्षेत्र में भीमबैठिका शैलाश्रय, रातापानी जलाशय, बर्रूसोत और नर्मदा दर्शन स्थानों पर पर्यटकों की पर्याप्त संख्या आती रही है। परिक्षेत्र बिनेका में केरबना एक सुंदर स्थल है। दाहोद में बेतवा नदी उद्गम स्थल, कैरी महादेव, रणभैंसा चितोरी एवं इमलाना का बाघ क्षेत्र दर्शनीय है। देलाबाडी स्थित देलावन, पी.ओ.डब्लू कैम्प, गिन्नौरगढ किला, बडी आमखोह, कोलार नदी आदि ऐसे अनेक स्थल हैं जहां पर्यटकों की दिन प्रतिदिन रूचि बढ रही है।
  • पर्यटन धारण क्षमता : 1000 पर्यटक
  • ठहरने की व्यवस्था :
    ठहरने की व्यवस्था कमरों की संख्या बिस्तरों की संख्या
    वन विश्राम देलावाडी 3 3
    डारमेट्री हॉल देलावाडी 1 1
    वन विश्राम बर्रूसोत 2 2
  • रेल मार्ग : भोपाल-मुबंई-नागपुर
  • सड़क मार्ग : राष्ट्रीय राजमार्ग 69 भोपाल - नागपुर तथा राष्ट्रीय राजमार्ग 12 जयपुर-जबलपुर एवं इंदौर-खडंवा मार्ग अभ्यारण्य क्षेत्र से होकर गुजरते हैं। वर्ष के सभी मौसमों में अभ्यारण्य क्षेत्र में पंहुचा जा सकता है।
  • वायु मार्ग : अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा भोपाल

 

वेबसाइट संबंधी विवरण : www.mpforest.gov.in
क्षेत्र की विशिष्टता : अभ्यारण्य सभी ओर से सडक मार्गों से जुडा है तथा वनों एवं वन्यप्राणियों में प्रचुरता है। प्रागैतिहासिक महत्व के क्षेत्र में भीमबैठिका, लाखा ज्वार, रंगमहल, गिन्नौरगढ, कैरी प्रपात, भदभदा जलप्रपात तथा रण्भैंसा-चितौरी आदि क्षेत्र में स्थित है।
सम्पर्क सूत्र : वन मंडलाधिकारी सामान्य वन मंडल औबेदुल्लागंज फोन: 07480-224062, मो. 9424790710 ई-मेल : dfotogunj@mp.gov.in अधीक्षक रातापानी वन्यप्राणी अभ्यारण्य औबेदुल्लागंज मो. 9424790712

संपर्क करें
  • कार्यालय अ.प्र.मु.व.सं. (कक्ष-सूचना प्रौद्योगिकी),आधार- तल खंड ‘डी’, सतपुडा भवन, भोपाल- 462004
  • दूरभाष : +91 (0755) 2674302
  • फैक्स: +91 0755-2555480