आज का वन्यप्राणी

अंग्रेजी नाम : Gaur
हिन्दी नाम : गौर
वैज्ञानिक नाम : Bos gaurus
विवरण : गोजातीय पशु जो खुर के पास सफेद मोजे जैसे आकृति से पहचाना जाता है। अत्‍यन्‍त बड़ा प्राणी है जो घने जंगलों में आवास करता है। वयस्‍क पशु सिर से पूँछ तक की लम्‍बाई 250 से 330 सेन्‍टीमीटर एवं कंधे से जमीन तक की ऊँचाई 165 से 225 सेन्‍टीमीटर तथा वजन 650 से 1000 किलो भारतीय प्राय:द्वीप में सबसे बड़ा गोवंशीय पशु है जिसे त्रुटिवश इंडियन बायसन का नाम दिया जाता है। इसके सींग हुक जैसे मुड़े हुए होते हैं। पीठ पर एक बड़ा उभार होता है। गहरे भूरे से काले रंग का पशु है। मादा हल्‍की काफी जैसे भूरे रंग की होती है। पूंछ लम्‍बी एवं अन्‍त में घनी होती है। मादा के चार स्‍तन होते हैं। झुण्‍ड में रहता है तथा बछड़े चार से पांच माह में सफेद मौजे जैसी आकृति खुरों के पास विकसित करते हैं।
प्राकृतिक वास: सूखे साल वनों एवं सागौन वनों में आवास करता है। नर्मदा नदी के उत्‍तर में अधिकतर पाया जाता है। कान्‍हा, बांधवगढ़ एवं सतपुड़ा राष्‍ट्रीय उद्यान में बहुतायात में पाया जाता है।
व्यवहार : शर्मीला प्राणी है एवं परेशान करने पर ही आक्रमण करता है यदि खतरे का आभास होता है तो नर पूँछ उठाकर सिर नीचे करते हैं।

संपर्क करें
  • कार्यालय अ.प्र.मु.व.सं. (कक्ष-सूचना प्रौद्योगिकी),आधार- तल खंड ‘डी’, सतपुडा भवन, भोपाल- 462004
  • दूरभाष : +91 (0755) 2674302
  • फैक्स: +91 0755-2555480